बड़ी खबर

छत्तीसगढ़ के डोंगरगढ़ से भाजपा के पूर्व विधायक रामजी भारती पर पत्नी ने लगाया प्रताड़ना का गंभीर आरोप

छत्तीसगढ़ के डोंगरगढ़ से भाजपा के पूर्व विधायक रामजी भारती पर पत्नी ने लगाया प्रताड़ना का गंभीर आरोप

रायपुर. डोंगरगढ़ विधानसभा से भाजपा के पूर्व विधायक एवं छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष रामजी भारती पर उनकी पत्नी संगीता भारती ने प्रताड़ना का गंभीर आरोप  लगाया है.मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, महिला आयोग, पुलिस महानिदेशक और पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव सहित कई जिम्मेदार संस्थाओं को भेजी गई एक शिकायत में संगीता भारती ने कहा कि उनके पति ने उन पर झूठा चारित्रिक आरोप लगाकर घर से बाहर निकाल दिया है. इतना ही नहीं उन्होंने अपनी तरफ से न्यायालय रायपुर में एकतरफा तलाक का आवेदन भी लगा रखा है.अभी तलाक का मामला लंबित है किंतु पति ने यह मान लिया है कि तलाक हो चुका है. संगीता का कहना है कि 18 नवम्बर 2020 को उनके और पति के बीच विवाद की स्थिति बनी थीं तब वह प्रताड़ना से भयभीत होकर कुछ दिनों के लिए अपने मायके रायपुर चली गई थी. विवाद खत्म होने के बाद जब वह अपने ससुराल राजनांदगांव लौटी तो पति ने घर पर प्रवेश ही नहीं करने दिया और गंदी-गंदी गालियां देकर भगा दिया.

संगीता ने अपना मोर्चा डॉट कॉम को भी चर्चा में बताया कि वर्ष 2008 में विधायक बनने के कुछ समय तक रामजी भारती का व्यवहार बेहद सामान्य था. हमारे परिवार के लोगों ने उनके विधायक बनने में आर्थिक मदद भी की थीं, लेकिन विधायक बनने के बाद उनका व्यवहार बदल गया. वे अपने आपको शक्तिशाली समझने लगे. हर किसी को अपमानित करना उनकी फितरत में शामिल हो गया. अपने पावर का उपयोग करते हुए वे हर किसी को झूठे मामले में फंसाने लगे. यहां तक मेरी छोटी बहन राजेश्वरी भास्कर और बहन दामाद विनोद भास्कर पर भी झूठा मामला दर्ज करवा दिया है. इस काम के लिए उन्होंने गनमैन धर्मैंद्र सिंह, वाहन चालक दिलीप वर्मा और रजनी चिवर्तकर से झूठा साक्ष्य भी दिलवाया है. संगीता ने बताया कि उनके दो बेटे हैं जिसे उनके पति ने जबरिया अपने कब्जे में ले रखा है. वे अपने बच्चों से भी मिल नहीं पा रही है. श्रीमती संगीता ने कहा कि उनके नाम पर एलआईसी में कुछ राशि जमा थीं जिसे फर्जी हस्ताक्षर के जरिए निकाल लिया गया है. उनके नाम पर राजनांदगांव और रायपुर में मकान है उसका कागजात भी हड़प लिया गया है. श्रीमती संगीता भारती ने बताया कि उन्होंने कई मर्तबा सुलह की कोशिश की है, लेकिन हर बार वे मुझे गंदी औरत कहकर मारपीट और अपमानित करते रहे हैं.

श्रीमती संगीता ने बताया कि उन्होंने कई मर्तबा राजनांदगांव के पुलिस अधीक्षक के पास न्याय पाने के लिए  गुहार लगाई है, लेकिन पति की राजनीतिक पहुंच के चलते उन्हें न्याय नहीं मिल पाया है. श्रीमती संगीता ने बताया कि एक बार जब वह रिश्तेदारों के साथ अपने ससुराल में प्रवेश के लिए गई थीं तब उनके पति ने राजनांदगांव के सिटी कोतवाली में पदस्थ पुलिस कर्मियों को बुला लिया था. पुलिस ने एक महिला की मदद करने के बजाय उनके पति के राजनीतिक रसूख का सम्मान किया. पति सबके सामने धौंस देते रहे कि वे पूर्व मुख्यमंत्री के खास है... कोई मेरा कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएगा. संगीता ने कहा कि अगर उसे न्याय नहीं मिलता है तो वह जल्द ही समाज प्रमुखों को साथ लेकर धरने पर बैठ जाएगी. यदि कल को किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति होती है तो इसकी पूरी जवाबदारी शासन-प्रशासन की होगी.

इधर पूर्व विधायक रामजी भारती ने अपनी पत्नी संगीता भारती के आरोपों को पूरी तरह से बेबुनियाद और निराधार बताया है. भारती का कहना है कि वे अपनी पत्नी के व्यवहार से त्रस्त हो गए थे इसलिए मामले को न्यायालय में ले गए हैं. उन्होंने बताया कि लगभग पांच सौ पेज की शिकायत हैं जिसमें सारे दस्तावेज मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी ने उनकी सामाजिक और सार्वजनिक छवि को धूमिल करने के लिहाज से सभी जिम्मेदार संस्थानों को झूठी और बेबुनियाद शिकायत प्रेषितः की है. भारती का कहना है कि मामला न्यायालय में लंबित है. जल्द ही यह सच्चाई सामने आ जाएगी कि कौन सही है और कौन गलत.

 

ये भी पढ़ें...